Skip to content

Surrogacy Meaning in Hindi, surrogacy process, cost, surrogacy bill

surrogacy-meaning-in-hindi

Surrogacy Meaning in Hindi (स्थानापन्न मातृत्व) – क्या आप निसंतान या बांझपन से जूझ रहे है. तो आपको surrogacy process के बारे में अवश्य जानना चाहिए. इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको सरोगेसी (Surrogacy Meaning in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है. all information about surrogacy in hindi. what is surrogacy Meaning in Hindi. what is surrogacy process step by step in hindi. meaning of surrogacy in hindi. सरोगेसी के प्रकार Surrogate mother full meaning in hindi. सरोगेट मदर बनने के लिए क्या योग्यता है. सरोगेसी तकनीक क्या है? सरोगसी प्रक्रिया में कितना खर्चा आता है? surrogacy cost? भारत में इसका कितना खर्चा होता है. इसे कौन लोग करवा सकते है? इसके बारे में भारत सरकार के क्या कानून (surrogacy bill 2019) बनाए गए है. इन सभी बिन्दुओ की चर्चा इस आर्टिकल में करने वाले है.

Jump On Query -:

Surrogacy Meaning in Hindi – सरोगेसी क्या है?

सरोगेसी (surrogacy) का हिंदी अर्थ होता है ‘किराए की कोख़’. यानी किसी अन्य महिला के कोख़ में किसी अन्य दंपति के बच्चे को पालना. सरोगेसी एक ऐसी आधुनिक मेडिकल कृत्रिम प्रक्रिया है. इस तकनीक के माध्यम से बाँझ या निसंतान दंपति भी अपना बच्चा प्राप्त कर सकते है. बाँझ एवं नि: संतान दंपतियों या ऐसे दंपति जो खुद से अपना बच्चा पैदा करना नही चाहते उनके लिए यह तकनीक किसी वरदान से कम नही है. इसके अलावा ऐसी महिलाएं जो खुद से अपना बच्चा पैदा नही करना चाहती है. वे भी इसी तकनीक से किसी अन्य महिला से अपना बच्चा पैदा करवाती है. सरोगेसी एक तरह से एक महिला और निसंतान कपल के बीच अग्रीमेंट होता है.

सरोगेसी के नियम( surrogacy rules in hindi)

surrogacy regulation bill 2019 के बारे में कुछ जानकरी हर किसी को होनी चाहिए

  • इस नियम के अनुसार नि:संतान दंपति जिसमे पत्नी की आयु 23-50 वर्ष और पति की आयु 26-55 वर्ष होनी चाहिए.
  • विवाह होने के पांच वर्ष बाद ही इसके योग्य हो सकते है.
  • दंपति सरोगेसी से हुई संतान (surrogate child) को किसी भी हालत में छोड़ नही सकती.
  • सरोगेट महिला (surrogate mother) के रिश्तेदार इसके गवाह होगे.
  • सिंगल व्यक्ति, समलैंगिक, ट्रांसजेंडर या लिव इन रिलेशन में हो वे लोग इसके लिए अयोग्य होगे.
  • सरोगेट महिला की आयु 25-35 वर्ष हो.
  • surrogate mother बनने के लिए वह महिला शादीशुदा हो और उसके कम से कम एक बच्चा हो.
  • नियम के विरुद्ध कार्य होने पर दस वर्ष की सजा या दस लाख तक का जुर्माना भरना होगा.
  • एक सेरोगेट महिला पैसो के लालच में यह काम नही कर सकती.

What is Surrogacy process in Hindi

Surrogacy process step by step in hindiसरोगेसी प्रक्रिया में एक सरोगेट महिला (surrogate mother) किसी अन्य दंपति के बच्चे को 9 महीनो तक अपने कोख़ में पालती है. वह महिला जो किसी अन्य दंपति का बच्चा अपने कोख में पाल रही है. उसे सरोगेट महिला (surrogate mother) बोलते है. इस प्रक्रिया में सरोगट महिला एक होस्ट की तरह होती है. जिसका उस बच्चे के साथ कोई सबंध नही होता है. एक सरोगेट माँ जो बच्चा जन्म देती है. वह surrogate baby या surrogate child कहलाता है.

surrogacy-meaning-in-hindi

जेस्टेंशनल सरोगेसी प्रक्रिया क्या है? (Gestational surrogacy meaning in hindi)

इस प्रक्रिया में परखनली विधि से माता के अंडाणु और पिता के शुक्राणु का निषेचन किया जाता है. निषेचित अंडाणु को अन्य महिला (सरोगेट महिला) के अंडाशय में प्रत्यारोपित किया जाता है. इस तकनीक में पैदा होने वाले बच्चे में माँ और पिता दोनों के जींस आ सकते है.

सरोगेसी प्रक्रिया में कितना खर्च आता है?

how much does surrogacy cost in india? सरोगेसी प्रक्रिया में खर्चे (surrogacy cost) की बात करे तो भारत में लगभग 14 से 15 लाख रुपए लगते है. यह निर्भर करता है कि आप किस प्रकार की सरोगेसी (ट्रेडिशनल या जेस्टेंशनल ) करवा रहे है. विदेशो की तुलना में भारत में इसका खर्च कम है. यदि इसी तकनीक को विदेश में कराए तो करीब 50 लाख रुपए लगते है. भारत में इसका खर्च इसलिए कम है क्योंकि भारत में कोई महिला सरोगेट मदर बनने के लिए आसानी से तेयार हो जाती है. साथ ही इन्हें अच्छे खासे पैसे भी दिए जाते है.

सरोगेसी प्रक्रिया कौन करवा सकते है?

अब आपके मन में यह सवाल आता है कि सरोगेसी कौन करवा सकता है? ऐसे नि:संतान दंपति जो बाँझपन से जूझ रहे है. या ऐसी महिलाए जिसके बार बार गर्भपात हो रहा हो या IVF तकनीक असफल हो रही हो या ऐसे दंपति जो स्वयं अपना बच्चा पैदा नही करना चाहते है. वे इस तकनीक (surrogacy) का प्रयोग कर सकते है. यही नही बोलीवुड के कई जानी मानी हस्तियों ने भी सरोगेसी तकनीक से बच्चा प्राप्त किया है. जैसे शिल्पा शेट्टी, सनी लियॉन, एकता कपूर, शाहरुख़ खान, आमीर खान, तुषार कपूर और भी कई है. जिन्होंने सरोगेसी प्रक्रिया से माता/ पिता बनने का सुख प्राप्त किया है.

rules and laws in india (surrogacy in hindi)

एक रिपोर्ट के तहत भारत में सरोगेसी के पूरी दुनिया के 80% केस आते है. इसका प्रमुख कारण है. भारत में अन्य देशो की तुलना में अधिक सस्ता होता है. पहले इसको लेकर कोई ठोस नियम नही थे. इस कारण काफी विवाद रहते थे. इसको देखते हुए 2008 में सुप्रीमकोर्ट ने इसे क़ानूनी मान्यता दी थी. इसके बाद 2016 में पहली बार surrogacy regulation bill 2016 पारित किया गया. परन्तु इस बिल पुनः विचार के लिए भेजा गया. कुछ कमियों को सुधार के इसे पुनः 2019 में पारित किया गया. जिसके बाद यह कानून बन गया. यह नियम बाँझ दम्पतियों के लिए फायदेमंद है. साथ ही यह नियम सरोगेट मदर और सरोगेट बेबी को सुरक्षा प्रदान करता हैं.

Traditional surrogacy meaning in hindi

इस तकनीक में एक नर के शुक्राणु को किसी अन्य महिला (सरोगेट महिला) के अंडाणु से निषेचित करवाया जाता है. इस तकनीक से पैदा होने वाले बच्चे में केवल पिता के ही जींस आ सकते है. या उस महिला (सरोगेट महिला) के जींस आ सकते है. इस कारण उस बच्चे में केवल पिता के जेनेटिक्स आते है. लेकिन असली माता के जींस उस बच्चे में नही आ सकते है.

FAQ about surrogacy in hindi

यहाँ हम सरोगेसी से जुड़े कुछ FAQ’s बताने वाले है. जिन्हें google में बार बार पूछा जाता है.

माता-पिता बनने के लिए सरोगेसी को कौन चुनता है?

जो सरोगेसी के माध्यम से माता-पिता बनने की चाह कर रहे है, उन्हें “इच्छित माता-पिता” कहा जाता है. ये वे लोग होते है जो किसी मेडिकल डिसेबिलिटी या अपनी कोख से संतान नहीं करना चाहते हैं.

  • जो लोग बांझपन से जूझ चुके हैं
  • भावी एकल माता-पिता
  • समलैंगिक जोड़े
  • कोई भी जो सुरक्षित रूप से गर्भावस्था को समाप्त करने में असमर्थ है.

पारंपरिक और गर्भकालीन सरोगेसी में क्या अंतर है?

सरोगेट में सबसे महत्वपूर्ण हैं कि किसके के अंडे का उपयोग किया जाता है। पारंपरिक सरोगेसी में, सरोगेट(जिस माँ को किराये पर लिया गया हैं) के अंडे का उपयोग किया जाता है, इसलिए वह बच्चे की जैविक मां होती है. जेस्टेशनल(आधुनिक) सरोगेसी में, अंडा एक इच्छित मां या दाता से आता है, इसलिए सरोगेट बच्चे से जैविक रूप से संबंधित नहीं है. मतलब माता वहीँ हैं जिसको बच्चा चाहिए, लेकिन कोख को किराये पर ली जाती हैं.

सरोगेसी और टेस्ट ट्यूब बेबी के बीच अंतर क्या है?

टेस्ट ट्यूब बेबी और सरोगेसी के बीच मुख्य अंतर यह है कि सरोगेसी करवाने पर आपको IVF से गुजरना पड़ता है. मतलब कि ivf (टेस्ट ट्यूब बेबी) भी सरोगेसी प्रक्रिया का स्टेप है. Ivf या टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया सरोगेट मदर के बिना भी संभव है. जबकि सरोगेसी में सरोगेट मदर का अतिआवश्यक होता है.

सरोगेट गर्भवती कैसे होती है?

आईवीएफ का उपयोग करके एक फर्टिलिटी क्लिनिक लैब में एक भ्रूण बनाया जाएगा और बाद में एक फर्टिलिटी क्लिनिक डॉक्टर द्वारा सरोगेट के गर्भाशय में स्थानांतरित कर दिया जाता हैं.

क्या बच्चा सरोगेट माता से संबंधित होता है?

नहीं! जेस्टेशनल(आधुनिक) सरोगेसी में माता का बच्चे से कोई लेना देना नहीं होता हैं. क्योंकि इस प्रक्रिया में सरोगेट मदर के अंडो का प्रयोग नही होता. जबकि पारंपरिक सरोगेसी (Traditional surrogacy) में सरोगेट माता का बच्चे से सम्बन्ध होता हैं. क्योंकि इसमें सरोगेट मदर के अंडो का प्रयोग होता है.

फिर, जब आनुवंशिकी की बात आती है, तो माता के अंडे और पिता के शुक्राणु मायने रखते हैं – गर्भाशय का इससे कोई लेना-देना नहीं है.

सरोगेसी में कितना समय लगता है?

जब से कोई व्यक्ति प्रक्रिया शुरू करता है तब से लेकर बच्चे के जन्म तक, आमतौर पर इसमें एक से दो साल लगते हैं।

क्या सरोगेसी प्रक्रिया हर बार सफल होती है?

देखिए जब बात आती है. सरोगेसी की सफलता दर क्या है? ऐसे कई मामले भी होते हैं, जिनमें आईवीएफ से गुजरने वाले जोड़े उपचार के पहले चक्र में गर्भधारण करने में सफल नहीं होते हैं. कुछ जोड़ों को गर्भधारण करने के लिए आईवीएफ के तीन या अधिक चक्रों की आवश्यकता पड़ सकती है. इसी तरह, सरोगेसी की सफलता दर 100% नहीं होती है. हालांकि, 30 साल से अधिक उम्र के जोड़ों के मामले में, सरोगेसी से बच्चा होने की संभावना 30% तक बढ़ जाती है. ऐसा इसलिए क्योंकि सरोगेट्स में आमतौर पर एक स्वस्थ प्रजनन प्रणाली होती है. साथ ही उनमें बांझपन से जुड़ी कोई समस्या नहीं होती है.

What is Surrogate baby meaning in hindi?

सरोगेसी प्रक्रिया से एक सरोगेट मदर से जन्मे बच्चे को सरोगेसी बेबी (surrogate baby) बोलते है. यदि जन्म लेने वाला बच्चा लड़का हो तो उसे surrogate son बोलते है. और लड़की को surrogate daughter बोलते है. इसी तरह, सरोगेसी की सफलता दर 100% नहीं होती है. हालांकि, 30 साल से अधिक उम्र के जोड़ों के मामले में, सरोगेसी से बच्चा होने की संभावना 30% तक बढ़ जाती है. ऐसा इसलिए क्योंकि सरोगेट्स में आमतौर पर एक स्वस्थ प्रजनन प्रणाली होती है. साथ ही उनमें बांझपन से जुड़ी कोई समस्या नहीं होती है.

सरोगेसी कितने प्रकार की होती है?

अभी तक सरोगेसी प्रक्रिया दो प्रकार से की जाती है.

  1. ट्रेडिशनल सरोगेसी प्रक्रिया
  2. जेस्टेंशनल सरोगेसी प्रक्रिया

Commercial Surrogacy क्या होती है?

कमर्शियल सरोगेसी में एक सरोगेट मदर को बच्चा पैदा करने के लिए पैसा दिया जाता है. यही कमर्शियल सरोगेसी कहलाती है. भारत में साल 2009 से कमर्शियल सरोगेसी को क़ानूनी रूप से बैन (प्रतिबन्ध) कर दिया गया है.

किराए की कोख़ (surrogacy in hindi) क्या है?

Surrogacy का हिंदी में मतलब ” किराए की कोख़ ” होता है. जब एक दंपति एक बच्चा चाहता है, लेकिन बच्चा पैदा करने में असमर्थ है क्योंकि दोनों में से कोई एक या दोनों साथी गर्भ धारण करने के लिए चिकित्सकीय रूप से अयोग्य हैं, तो दूसरी महिला को कृत्रिम रूप से पिता के शुक्राणु से प्रेरित किया जाता है. इसके बाद वह बच्चे को पूरे समय के लिए गोद में उठाती है और दंपति के लिए उसे जन्म देती है.कोई अन्य महिला अपनी कोख़ में किसी अन्य के बच्चे को पालती है. यही किराए की कोख़ या surrogacy process है.

सरोगेसी में बच्चा पैदा कैसे होता है?

यह (सरोगेसी) एक आधुनिक मेडिकल टेकनिक है. इसमें पिता के शुक्राणुओं को surrogate mother के अंडाणुओं से निषेचित करवाया जाता है. सरोगेसी पूरी तरह से कृत्रिम प्रणाली है. यह डॉ द्वारा एक लैब में की जाती है. जब अंडाणु और शुक्राणु निषेचित हो जाते है तब माता के उदर में भ्रूण का विकास होता है. इस तरह सरोगेसी में बच्चा पैदा होता है.

What is Full Meaning of Surrogate Mother in Hindi Language?

एक सरोगेट मदर का मतलब होता है कि वह महिला जो किसी अन्य कपल के बच्चे को अपने कोख़ में नौ महीने तक रखती है. वास्तव में उस महिला (surrogate mother) का उस बच्चे से कोई रिलेशन नही होता. वह केवल उस बच्चे को पैदा कर उसे कपल को सौंप देती है.

क्या अविवाहित लड़की सरोगेट माता बन सकती हैं?

नहीं! अविवाहित लड़की एक सरोगेट माता नहीं बन सकती हैं. सरोगेट माता बनने के लिए महिला का विवाहित होना आवश्यक हैं. विवाहित होने के साथ उसका एक बच्चा भी होना चाहिए.

एक सरोगेट माता को कितना भुगतान किया जाता हैं?

सरोगेट माता बनना एक परोपकारी का काम हैं, इसके लिए कोई नियम नहीं हैं कि सरोगेट माता को कितना भुगतान किया जायेगा.

क्या सरोगेसी से जेल हो सकती हैं?

अगर कोई सरोगेसी के नियमों का उल्लंघन करता हैं, तो दस लाख का जुर्माना और दस साल की सजा हो सकती हैं.

also read :- सरोगेसी क्या है wikipedia

इस आर्टिकल में आपने surrogacy meaning in hindi, what is surrogacy in hindi, सरोगेसी प्रक्रिया क्या है? इंडिया में सरोगेसी का कितना खर्च है? तथा इसके क्या रूल्स रेगुलेशन (surrogacy bill) है. और भी कई महत्वपूर्ण बिन्दुओ को जाना. आशा करता हूँ कि यह आर्टिकल आपको जानकारी भरा लगा होगा. इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ भी शेयर करे.

1 thought on “Surrogacy Meaning in Hindi, surrogacy process, cost, surrogacy bill”

  1. Pingback: Pregnant कैसे होते हैं? Pregnant Kaise Hote Hai in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.