Skip to content

घर बनाने का तरीका – Ghar Banane Ka Tarika in hindi

Jump On Query -:

घर बनाने का तरीका: Ghar Banane Ka Tarika

अपना खुद का घर बनाने का सभी का सपना होता है, अगर देखा जाए तो एक इंसान अपनी जिंदगी में केवल एक बार घर बना सकता है. इसलिए घर बनाने का तरीका ऐसा होना चाहिए कि हमारी सभी आवश्यकता पूरी हो जाए और पैसे भी कम लगे.

घर बनाने के लिए जितने भी निर्णय ले सभी विचार विमर्श और पूरी जानकारी के बाद ही लेना चाहिए. सस्ता बजट में घर बनाने के लिए हमें कुछ तरीकों को अपनाना चाहिए इसके लिए आपको कुछ रिसर्च करनी पड़ सकती है. यहाँ मैं आपके रिसर्च में मदद करने वाला हूं, आपको बस इस पोस्ट को पूरी पढ़नी है और अच्छी तरह से समझना है.

यहाँ मैं आपको सभी स्टेप्स एक एक करके बता रहा हूँ. इन सभी स्टेप्स के साथ मैंने कुछ विशेष बातों का जिक्र किया हैं, आप उन सभी बातों का विशेष ध्यान रखे.

घर के लिए प्लॉट तैयार करें

गांव हो या शहर अपना घर बनाने के लिए एक प्लॉट की जरूरत होती है. भविष्य और वर्तमान की आवश्यकताओं को देखते हुए प्लॉट का चयन करें, प्लॉट को तैयार करने के लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए.

  • प्लॉट का टाइटल पूरी तरह से क्लियर होना चाहिए.
  • प्लॉट की रजिस्ट्री पूरी होनी चाहिए या पावर ऑफ अटॉर्नी बनवाई हुई होनी चाहिए.
  • प्लॉट एरिया के साथ कोई पारिवारिक या सीमा विवाद नहीं होना चाहिए.
  • प्लॉट रजिस्ट्री के सभी ओरिजिनल दस्तावेजों को अपने साथ सुरक्षित रख ले.
  • प्लॉट के तैयार हो जाने पर ही अगले कदम की तरह बढ़ना चाहिए.

1 43 और 53 ग्रेड सीमेंट के बीच का अंतर – difference between 34 and 53 grade

घर का बाहरी डिजाइन फोटो & गांव के घर का डिजाइन – Village House Design

घर का नक्शा बनवाये

घर बनाने के लिए अगर सही रणनीति को फॉलो करें तो कम पैसे में अच्छा घर बनाया जा सकता है. नक्शा बनाने के लिए एक आर्किटेक्चर को पकड़े या घर पर खुद ही किसी ऐप या सॉफ्टवेयर के जरिए घर का नक्शा बनाए. नक्शा बनाने के लिए किसी खास योग्यता की जरूरत भी नहीं होती हैं.

  • नक्शा बनाने के लिए परिवार वालों की राय ले.
  • यदि आप वास्तु के अनुसार घर का बनाना चाहते हो तो उसका भी जरूर ध्यान रखें.
  • घर का नक्शा पूरा होने पर किसी कॉन्ट्रैक्ट या आर्किटेक्चर से एक बार विचार-विमर्श जरूर कर ले.
  • घर का नक्शा पूरा होने पर घर निर्माण के लिए किसी अनुभवी ठेकेदार को घर का ठेका दे.

कंस्ट्रक्शन सामान खरीदने में समझदारी दिखाएं

भवन निर्माण का काम शुरू करने से पहले एक बार ठेकेदार या आर्किटेक्चर से यह पता करें कि घर के निर्माण के लिए सीमेंट, सरिया, ईंटें और मिट्टी कितनी लगेगी.

माल की मात्रा का पता चलने पर पर मौका निकाल कर सामान को इकट्ठा खरीद ले. इकट्ठा सामान खरीदने से कुछ प्रतिशत की छूट मिलती है. घर बनाने के लिए सामान खरीदने का यह एक स्मार्ट तरीका है. इसी तरह मार्बल, टाइल और दूसरे हार्डवेयर सामान को भी इकट्ठा ही खरीदें.

घर बनाने के लिए सरिये का चयन करें

घर के लिए एक बेहतर क्वालिटी के सरिए का चयन करें. बाजार में ओरिजिनल और डुप्लीकेट दोनों क्वालिटी के सरिये बिकते हैं. इसलिए इनकी अच्छे से जांच पड़ताल कीजिये. घर बनाने के लिए Fe-415 ग्रेड और Fe-500 ग्रेड के सरिए का उपयोग करें.

सरिये की खरीददारी के लिए डीलर से बात करें और ओरिजिनल सरिये की पहचान कर ही खरीदारी करें.

1 सबसे अच्छा सरिया कौन सा है

घर निर्माण के लिए सीमेंट का चयन करें

सीमेंट को इक्कठा ही खरीदे. इक्कठी सीमेंट खरीदने से काफी पैसे को बचाया जा सकता है. घर के लिए opc 43 ग्रेड की सीमेंट खरीदें. ढलाई और पानी के टैंक के लिए ppc सीमेंट खरीद सकते हैं.

सीमेंट की सेल्फ लाइफ लगभग 3 महीने की होती हैं. इसलिए सीमेंट को काम शुरू होने के तुरंत पहले ही खरीदें.

2 सबसे अच्छा सीमेंट कौन सा होता है – सेलेक्ट बेस्ट सीमेंट

अनुभवी ठेकेदार को चुने

अगर एक अच्छा और व्यवस्थित घर बनाना है तो अनुभवी कांट्रेक्टर को चुनना चाहिए. कई बार मिस्त्रियों की गलती की वजह से दीवारों को तोड़ा जाता है और यह बार-बार कस्टमाइज किया जाता है. जिसमें सीमेंट और रेती का फालतू में खर्चा हो जाता है. अच्छा घर बनाने का तरीका यही हैं कि एक बेहतर ठेकेदार को चुने.

गहरी नीवें खुदवाये (घर बनाने का तरीका)

घर की जड़े यानी नीवों को मजबूत रखना चाहिए. इसलिए नीवों की खुदवाई गहरी करवाएं. नीवों की अच्छी तरह से भरपाई होने पर नीवों की दीवारों के बीच की मिट्टी को अच्छी तरह भरवा कर पानी डालकर कठोर कर ले, ताकि बाद में दरारे नहीं पड़े.

प्लिंथ बीम और कॉलम डलवाए

नीवों का काम पूरा होने पर भीम और कॉलम का काम शुरू किया जा सकता है, कॉलम बिठाने के बाद ईटों की जुड़ाई शुरू की जाती है. दरवाजे और खिड़कियों के लिए लिंटेल भीम लगवाए.

छत का खास ध्यान रखे

कई बार घरों की छतों की सही पकाई नहीं होने पर पानी रिश्ता है इसके लिए फिर वाटर प्रूफ पेंट का अतिरिक्त खर्चा करना पड़ता है. इसलिए छत की पकाई अच्छे से होनी चाहिए. छत की पकाई के लिए मिट्टी के घेरे बनाएं या लकड़ी का बुरादा भरकर अच्छी तरह से पानी भरें.

तराई का विशेष ध्यान रखें

एक बार सीमेंट का काम शुरू होने के बाद 16 या 24 घंटे के बाद तराई का काम शुरू किया जा सकता है. तराई 28 दिनों तक करनी चाहिए. सीमेंट 3, 7, 14, 28 दिनों में मजबूती पकड़ती हैं. सीमेंट तीसरे दिन तक 16% और अठाईस वे दिन तक 100% मजबूती पकड़ती हैं.

तराई के दौरान सीमेंट को तब तक पानी देना चाहिए, जब तक वह सोखना बंद ना कर दें. इसलिए जल्दबाजी में नहीं करनी चाहिए. अच्छी तराई घर को मजबूत बनाएगा.

प्लास्टर का विशेष ध्यान रखें

प्लास्टर करवाते समय ध्यान रखें कि ज्यादा गड्ढे न हो और ना ही ज्यादा लकीरें या दरारे हो. इसके लिए कॉन्ट्रैक्टर से विचार-विमर्श कर ले, अगर ज्यादा दरारें या गड्ढे रह जाए तो बाद में पुट्टी में अतिरिक्त खर्चा आएगा, जो बिल्कुल फिजूल खर्चा होगा.

पानी और लाइट फिटिंग का काम शुरू करवाएं

पानी की पाइपों की फिटिंग प्लास्टर से पहले की जाती है. बिजली की फिटिंग भी प्लास्टर से पहले की जाती हैं. प्लास्टर के बाहर भी बिजली की फिटिंग की जाती है, लेकिन यह ट्रेंड पुराना हो चुका है. लाइट और पानी की फीटिंग दीवार के अन्दर ही करवाए.

टाइले और मार्बल का काम शुरू करवाएं

मार्बल किसी डीलर से खरीदने की बजाए डायरेक्ट किसी खदान या खदान के पास डीलर से खरीदें, अगर यह संभव नहीं हो सके तो अलग-अलग डीलर से बात कर प्राइस का तोल कर मार्बल खरीदे.

ध्यान रहे कि मार्बल और टाइल फिटिंग के लिए पीपीसी सीमेंट की काम में ले. टाइल्स फिटिंग के लिए 53 ग्रेड की ओपीसी सीमेंट भी काम में ली जा सकती हैं.

अंदर बाहर के सभी काम को चेक करें (ghar banane ka tarika)

टाइल मार्बल से लेकर घर के बाहर तक सभी काम का निरीक्षण कर ले, कोई काम बाकी रहे तो उसको इसी वक्त पूरा करवा लेना चाहिए.

घर का फर्नीचर करवाए

घरों का फर्नीचर एक महंगा काम हैं, इसलिए इसको ध्यान से करवाए. घरों के लिए कमर्शियल प्लाईवुड की जगह स्टैंडर्ड प्लाईवुड का इस्तेमाल करें, या waterproof प्लाईवुड का इस्तेमाल करें. प्लाईवुड को होलसेल रेट पर ही ख़रीदे, अन्यथा यह काफी महँगी पड़ सकती हैं.

घर को पेंट करवाए

घर का कंस्ट्रक्शन काम पूरा होने पर घर की सुंदरता को चार चांद लगाने के लिए घर का पेंट करवाए, घर की अंदर की दीवारों के लिए इंटीरियर पेंट बाहर की दीवारों के लिए एक्सटीरियर पेंट करवाए. पेंट पर थोड़ा अतिरिक्त खर्चा कर अच्छा वाला पेंट करवाए.

सस्ता पेंट बार-बार करवाना पड़ता है, इसलिए अच्छा पेंट करवाना चाहिए. अच्छा पेंट कई सालों तक चलता है. कई पेंट कंपनियां इसकी गारंटी भी देती है.

3 सबसे अच्छा पेंट कौन सा है (sabse accha paint kaun sa hai) – बेस्ट पेंट कंपनी

कम बजट में घर बनाने का तरीका(ghar banane ka tarika)

जैसा कि मैंने आपको बताया अपना खुद का घर बनाना सभी का सपना होता है, सभी लोगों की यही चाहत होती है कि एक अच्छा घर बनवाए.

लेकिन कई बार बजट को लेकर समझौता करना पड़ सकता है, कम बजट में भी एक अच्छा घर बनाया जा सकता है. इसके लिए केवल और केवल समझदारी से काम लेना होता है. यहां मैं अपनी तरफ से आपको कुछ टिप्स दे रहा हूं जिनको फॉलो करके आप कम बजट में भी अच्छा प्लान बना सकते हैं.

  • ब्रांड के साथ समझौता कर लो लेकिन क्वालिटी के साथ समझौता मत करो. मेरे कहें का मतलब यह हैं कि किसी के कहने में आकर महंगी चीजों या मटेरियल को न ख़रीदे. प्राइस को साइड में रखकर माल की क्वालिटी चेक करो, अच्छा माल खरीदो और जांच परख कर ही खरीदो.
  • कुछ ब्रांड महंगे होते हैं लेकिन कुछ ब्रांड सस्ते होते हैं लेकिन दोनों का फार्मूला और क्वालिटी समान होती हैं, इस बात का ध्यान रख कर ही सामान की खरीददारी करें.
  • सीमेंट, सरिया, ईटों को बड़ी सावधानी और चतुराई से खरीदना चाहिए. पहला इस बात का ध्यान रखें कि सरिया सीमेंट उसी ब्रांड का खरीदें जो अपने राज्य या नजदीकी राज्य में बनता हो. ऐसा करने से ट्रांसपोर्ट का खर्चा और CGST की अतिरिक्त टैक्स में बचत होती हैं. दूसरा इस बात का ध्यान रखे कि अलग-अलग डीलर से भाव टकराकर सरिया खरीदें.
  • कांट्रेक्टर एक अनुभवी होना चाहिए. एक अनुभवी कॉन्ट्रैक्टर के हाथ में काम देने से समय और पैसा दोनों के बचत हो सकती हैं.
  •  जब घर बन रहा हो तो पूरी निगरानी रखे, या आर्किटेक्ट को कुछ पैसे देकर किराए पर रख ले. आर्किटेक्ट को किराये पर रखने के 2 फायदे हो सकते हैं, पहला कि वह सभी काम को अच्छे से करवाएगा. दूसरा, यह कि वह मार्केट में सामानों के भाव बिठाने में मदद करेगा.
  • हार्डवेयर के सामान टॉप ब्रांड के न खरीद कर B ब्रांड के ख़रीदे जो अच्छे होने के साथ सस्ते भी होंगे.
  • दरवाजे और खिड़कियों की चौखट के लिए RCC का ही इस्तेमाल करें.
  • कुछ प्रसिद्ध आर्किटेक्ट कहते हैं कि अगर घर का नक्शा वर्गाकार होता है तो निर्माण लागत में कमी आती हैं.
  • टॉयलेट बाथरूम को साथ-साथ में बनवाइए इससे अतिरिक्त दीवार और अतिरिक्त टाइलों का खर्चा बच जाता है.
  • घर की दीवारें 2 तरीके से बनाई जा सकती हैं, पहला बीमा फ्रेम से, और दूसरा लोड बेरियर स्ट्रक्चर जिसमे सरिया कम लगता हैं. लोड बैरियर स्ट्रक्चर से अतिरिक्त लागत को कम किया जा सकता है.
  • परंपरागत इटें कुछ महँगी आती हैं लेकिन सीमेंट से बनी इटें जिसे फ्लाई एश भी कहा जाता है जो थोड़ी सस्ती आती हैं. इस तरह से काफी पैसों को बचाया जा सकता है.

एक अच्छा घर बनाने के बारे में आपने क्या सीखाGhar Banane Ka Tarika in hindi

एक अच्छा, सस्ता, मजबूत और फिक्स बजट में घर बनाने के लिए हमें अपनी तरफ से कुछ जागरूकता रखनी पड़ती है. सही चीजों की सही जानकारी लेनी होती हैं.

 सही जानकारी और थोड़ी सी मेहनत से काफी पैसे बचाया जा सकता है और अपने ड्रीम घर को बनाया जा सकता है. अगर आपको घर बारे में और कोई जानकारी चाहिए तो कमेंट में जरूर लिखें हम आपको बेस्ट solution देने का प्रयास करेंगे.

4 उत्तर प्रदेश में सरिया क्या भाव है Sariya ka rate today Lucknow UP(2022)

5 All cement price list today 2022 – आल सीमेंट प्राइस लिस्ट टुडे, All company

Leave a Reply

Your email address will not be published.